Fri. May 24th, 2024

करनाल | झंझाड़ी गांव के जयभगवान की हत्या के मामले में सीआईए-टू टीम ने बदमाशों का सहयोग करने वाले दो आरोपी राजीव कुमार उर्फ जग्गी वासी सुनहरा खालसा कुरुक्षेत्र और मुकेश कुमार उर्फ काकू वासी वार्ड -26 दीदार नगर कुरुक्षेत्र को कुरुक्षेत्र से गिरफ्तार किया। इन दोनों आरोपियों ने अपने बैंक खाते में रुपए मंगवाकर वारदात को अंजाम देने वाले आरोपियों को वितरित किए थे और वारदात में प्रयोग की गई गाड़ी का फास्टैग भी इनके नाम से था। दोनों को शुक्रवार को कोर्ट ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया। इंस्पेक्टर मोहनलाल ने बताया कि इस वारदात में मुख्य आरोपी मनोज दुबई से वारदात के लिए ही आया था। मनोज अपने परिवार से भी नहीं मिला था, ताकि किसी को भनक न लगे। नरेश अंजनथली के पास मनोज काम करता था। नरेश के साले पिंटू की हत्या में जयभगवान के लड़के गोल्डी को मुखबिरी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। इस रंजिश में ही 24 सितंबर को जयभगवान की हत्या की गई थी। इसमें मुख्य आरोपी मनोज और इसके साथ दो शूटर फरार हैं। झंझाड़ी गांव में वारदात करके पांचों आरोपी कुरुक्षेत्र में जाकर छिपे थे। आरोपी राजीव और मुकेश ने एक महीना पहले ही कुरुक्षेत्र की दीदार कॉलोनी में एक कमरा किराए पर लिया था, जिसमें बदमाश रह रहे थे। मनोज ही सोनीपत से हथियार लेकर आया था। आरोपी राजीव और मुकेश ने हेल्प की थी। पुलिस ने बताया कि इस वारदात की जिम्मेदारी बबली के लड़के सागर चौधरी ने ली है। उसको भी इस मामले में गिरफ्तार करने के लिए पुलिस विदेश जाएगी। इसके अलावा सागर के चाचा नरेश अंजनथली से भी पूछताछ की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *