Fri. May 24th, 2024

नीलोखेड़ी, 13 अक्तूबर (छाया शर्मा)। चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के अंतर्गत विस्तार शिक्षा संस्थान नीलोखेड़ी में आज “किसानों को मार्किट एवं प्रोसेसिंग इंडस्ट्री से जोड़ना” विषय पर पांच दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन हुआ। समापन समारोह में डा. सतीश कुमार, प्रोफेसर, पंजाब कृषि विश्वविद्यालय लुधियाना ने बतौर मुख्यतिथि शिरकत की। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण का विषय वर्तमान समय में बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि मार्केटिंग व प्रोसेसिंग के कारण ही किसान अपनी आमदनी को बढ़ा सकते हैं। विस्तार शिक्षा संस्थान नीलोखेड़ी के क्षेत्रीय निदेशक डा. संजय कुमार ने कहा कि यह संस्थान वाईस-चांसलर प्रोफेसर बी. आर. कांबोज, चैधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के नेतृत्व में उत्तर भारत के राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के कृषि, उद्यान, पशु-पालन, मत्स्य पालन, वानिकी, महिला एवं बाल विकास इत्यादि विभागों के विस्तार अधिकारियों को प्रशिक्षण देने का काम कर रहा है। हर तरह का वित्तीय सहयोग देने के लिए विस्तार निदेशालय, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार की भी सराहना की। उन्होंने विश्वविद्यालय के कुलसचिव एवं विस्तार शिक्षा निदेशक डा. बलवान सिंह मंडल का भी धन्यवाद किया। कार्यक्रम के संयोजिक डा. अनिल कुमार रोहिला ने बताया कि प्रशिक्षण में उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, झारखंड एवं जम्मू-कश्मीर के विस्तार अधिकारियों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया है। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण के दौरान अधिकारियों को विभिन्न प्रतिष्ठित संस्थानों को भ्रमण भी करवाया गया है और इसके साथ-साथ विभिन्न संस्थानों से व्याख्यानों के लिए विशेषज्ञों को भी आमंत्रित किया गया था। इस दौरान कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय भारत सरकार की अतिरिक्त सचिव श्री फैज अहमद किदवई की अध्यक्षता में आई चार सदस्यीय टीम ने अपनी विजिट के दौरान प्रशिक्षण के प्रतिभागियों से प्रशिक्षण की फीडबैक प्राप्त की एवं संस्थान की सुविधाओं का जायजा लिया। कार्यक्रम के दौरान मुख्यतिथि द्वारा प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र वितरित किए गए। इस दौरान डा. भरत सिंह घनघस ने धन्यवाद ज्ञापित किया। डा. जसविंद्र कौर एवं डा. अजय कुमार सहित सभी प्रतिभागी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *