Fri. May 24th, 2024

हिमाचल, नयनादेवी (रोहित लामसर)। हिमाचल प्रदेश के विश्व विख्यात शक्तिपीठ श्रीनयनादेवी जी में आश्विन नवरात्रों के दृष्टिगत पुलिस प्रशासन ने नयनादेवी के साथ कोलांवाला टोबा तथा भाखड़ा एवं कैंची मोड़ के बैरियर में चौकसी बढ़ा दी है। मंदिर को दुल्हन की तरह सजाया गया है। मंदिर को हरियाणा करनाल की समाजसेवी संस्था द्वारा रंग-बिरंगी लाइटों, फूलों और लड़ियों से सजाया गया है। मंदिर का यह मनमोहक दृश्य दूर-दूर तक श्रद्धालुओं के मनों में प्राकृतिक सौंदर्य की अपार छटा बिखेर रहा है। 15 अक्तूबर से शुरू होने वाले शारदीय नवरात्रों के दृष्टिगत मंदिर न्यास ने जिला प्रशासन ने अपनी तैयारियां लगभग पूर्ण कर ली हैं।

एसडीएम धर्मपाल को मेला अधिकारी,

एसडीएम धर्मपाल को मेला अधिकारी तथा डीएसपी विक्रांत बोंसरा को पुलिस मेला अधिकारी नियुक्त किया गया है। मंदिर अधिकारी विपिन ठाकुर के अनुसार इस बार भी मंदिर न्यास ने 175 अस्थायी कर्मचारियों को नियुक्त किया है। माता रानी के दरबार को सजाया गया है तथा जेबीडी ग्रुप हरियाणा इस बार भी माता जी का सदाव्रत लंगर का आयोजन करेगा तथा इसमें व्रत रखने वाले श्रद्धालुओं को भी भोजन उपलब्ध होगा।

नयनादेवी क्षेत्र 9 सैक्टरों में विभाजित, 100 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे स्थापित

डीएसपी नयनादेवी जी विक्रांत बोंसरा ने बताया कि इस बार भी पूर्व की तरह 350 पुलिस तथा होमगार्ड्स के जवान तैनात किए जाएंगे। नयनादेवी क्षेत्र को 9 सैक्टरों में विभाजित किया गया है, हर सैक्टर में सैक्टर अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। मंदिर के अंदर कड़ाह-प्रशाद तथा नारियल पर प्रतिबंध रहेगा। इस बार भी 100 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरों से हर गतिविधी पर नजर रहेगी।

पुलिस प्रशासन यहां रोक देगा बड़ी गाड़ियां

बड़ी गाड़ियों को कोलांवाला टोबा में रोका जाएगा तथा गुफा तक मात्र छोटी गाड़ियां ही आ-जा सकेंगी तथा भीड़ बढऩे या पार्किंग में जगह न होने के कारण गाड़ियों को पुराने बस अड्डे में ही रोक लिया जाएगा। मेला अधिकारी धर्मपाल ने बताया कि नगर परिषद तथा मेला प्रशासन को नवरात्रों में श्रद्धालुओं की सुविधा हेतु आदेश दिए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *