Fri. May 24th, 2024
आप हो जाएं सावधान ! कनाडा भेजने के नाम पर ठग लिए 27 लाख रुपए, पैसे लेकर बदल देता थाा ऑफिस का पता व मोबाइल नंबर

करनाल, 20 जुलाई (छाया शर्मा)। एस.पी. शशांक कुमार सावन के कुशल मार्गदर्शन में कार्य करते हुए जिला पुलिस द्वारा विदेश भेजने के नाम पर लोगों के साथ लाखों रूप्यों की धोखाधडी करने वाले आरोपियों पर लगातार कार्यवाही की जा रही है। इसी क्रम में जिला पुलिस की सीआईए वन की टीम द्वारा एक और ऐसे आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। कल दिनांक 19 जुलाई 2023 को एएसआई गुरजीत सिंह सीआईए वन की अध्यक्षता में टीम द्वारा आरोपी मनदीप पुत्र जसवंत सिंह वासी मीरपुर पंजाब हाल किराएदार फेस-3 नाथुपुरा गुरूग्राम को विश्वसनीय सूचना पर गुरूग्राम से गिरफ्तार किया गया। प्रारम्भिक पूछताछ में आरोपी ने बताया कि आज के समय में लोगों में विदेश जाने की होड़ लगी हुई है। इस काम में ज्यादा मुनाफा होने के कारण आरोपी ने इस बात का फायदा उठाया और लोगों को विदेश भेजने के लिए अपना ऑफिस खोल लिया। आरोपी अपने पार्टनर आशीष के साथ मिलकर लोगों को विदेश भेजने के लिए फेसबुक आदि पर लुभावने ऑफर देकर पोस्ट डालता था। जब लोग इनके झांसे में आ जाते थे तो आरोपी बेहद कम दामों पर विदेश भेजने का लालच देते थे। इसके बाद जब आरोपी किसी व्यक्ति से उसके रूप्ये व जरूरी कागजात ले लेते थे तो उस व्यक्ति के साथ ठगी करके अपना ऑफिस बंद करके भाग जाते थे और अपने मोबाइल नम्बर बदल लेते थे। इसके बाद आरोपी किसी अन्य जगह पर किसी नए नाम से अपना ऑफिस खोल लेते थे और किसी नए ग्राहक की तलाश करने लग जाते थे। यह सिलसिला चलता रहता था। फिलहाल आरोपी ने लोगों को विदेश भेजने के लिए गुरुग्राम में अपना ऑफिस खोला हुआ था। जांच में यह भी खुलासा हुआ है कि आरोपी मनदीप के खिलाफ पहले भी करीब पांच मामले में विदेश भेजने के नाम पर धोखाधडी करने के जिला अंबाला, करनाल व कुरूक्षेत्र में दर्ज हैं। इन मामलों में आरोपी गिरफ्तार हो चुका था और फिलहाल जमानत पर बाहर चल रहा था। इस वारदात के संबंध में शिकायतकर्ता सुनीता देवी वासी घरौंडा ने माह दिसम्बर वर्ष 2021 में पुलिस अधीक्षक कार्यालय करनाल में आरोपी मनदीप सिंह व आशीष के खिलाफ एक शिकायत दी थी। जिसमें उसने बताया कि आरोपियों ने चण्डीगढ़ के सेक्टर-34ए में लोगों को विदेश भेजने का काम करने का दफ्तर खोला हुआ था। शिकायतकर्ता ने बताया कि उसने वर्ष 2021 में आरोपियों द्वारा फेसबुक पर अपलोड किया गया विदेश भेजने का एक विज्ञापन देखा। जिसके बाद वह विज्ञापन देखकर आरोपियों के ऑफिस में उक्त पते पर गई और शिकायतकर्ता ने खुद व अपने परिवार के अन्य सदस्यों को कनाडा भेजने के लिए आरोपियों के साथ सत्ताईस लाख रूप्ये में सौदा कर लिया। जिसके बाद आरोपियों ने इन्हे विश्वास दिलाने के लिए इनके विदेश भेजने संबंधित कागजात ले लिए और जालंधर ऑफिस में इनके फिंगर प्रिंट करवाए व बाद में इनको इनका वीजा भी दिखाया। इसके बाद आरोपियों ने शिकायतकर्ता पक्ष को उनके पासपोर्ट व वीजा देेने के लिए एक दिन निश्चित कर दिया और अपने ऑफिस पर आने के लिए कहा। जब शिकायतकर्ता पक्ष अपने कनाडा जाने संबंधित कागजात लेने आरोपियों के ऑफिस पर गया तो उन्हे वह ऑफिस बंद मिला। आरोपियों से फोन के माध्यम से सम्पर्क किया गया तो आरोपियों के फोन नम्बर भी बंद मिले। जिसके कारण शिकायतकर्ता पक्ष को अपने साथ हुई धोखाधडी का खुलासा हुआ। इस दौरान तक आरोपी शिकातयकर्ता पक्ष से अलग-अलग समय पर सत्ताईस लाख रूप्ये ले चुके थे। इस संबंध में उपरोक्त आरोपियों के खिलाफ नामजद थाना घरौंडा में धारा 406, 420, 506 भा.द.स. के तहत मामला दर्ज किया गया। आरोपी को आज पेश अदालत करके चार दिन के पुलिस रिमाण्ड पर लिया गया है। दौराने रिमाण्ड आरोपी से गहनता से पूछताछ की जाएगी और धोखाधडी की रकम को बरामद किया जाएगा। इसके अलावा फरार दूसरे आरोपी आशीष को भी गिरफ्तार किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *