Fri. May 24th, 2024

अंबाला, ब्यूरो। अंबाला कैंट में सड़कों की राजनीति को लेकर आम आदमी पार्टी और भाजपा आमने-सामने है। AAP की प्रदेश उपाध्यक्ष चित्रा सरवारा की अगुवाई में आम आदमी पार्टी ने अंबाला कैंट में 5वीं खड्‌डा यात्रा निकाली। AAP नेत्री खड्डा यात्रा के दौरान भाजपा को निशाने पर लिया। यात्रा कैंट की पक्की सराय, सेवा समिति स्कूल, कबाड़ी बाजार, सराफा बाजार से होती हुई पल्लेदार मोहल्ले में खत्म हुई। इस दौरान पार्टी के वर्कर्स ने खस्ताहाल सड़कों पर फूल डाले। चित्रा सरवारा ने तंज कसते हुए कहा कि भाजपा नेताओं ने बड़े जोर शोर से लोगों को बताया था की हमने 5 करोड़ की मशीन मंगवाई है, जो कैंट की सड़कों को उखाड़ेगी और उसके बाद नई सड़कें बनाएगी, लेकिन धरातल पर कुछ और ही हुआ। मशीन तो आई, लेकिन कैंट की मात्र 2 या 3 सड़कें उखाड़ पाई और उसके बाद मशीन खराब हो गई।

सरकार ने बर्बाद किए 5 करोड़ रुपए

चित्रा ने कहा कि सरकार ने जो सड़कें खोदने के लिए मशीन मंगाई उसने लोगों को राहत देने की बजाए उल्टा पीने और सीवरेज के पाइप उखाड़ दी। आज उन सड़कों पर रहने वाले लोगों को प्रति घर 2 से ढाई हजार रुपए तक खर्च करने पड़ रहे हैं। चित्रा ने यात्रा के दौरान बताया कि जिन सड़कों पर यात्रा निकाली जा रही है वहां कूड़े के ढेरों का भी भयानक मंजर देखने को मिल रहा है। सड़कों पर चलने को मजबूर लोग गंदगी और बीमारी में जीने को मजबूर हैं।

चित्रा ने कहा हरियाणा में अंबाला कैंट में प्रशासन द्वारा अलग से नियम लागू है। पूरे हरियाणा के अन्य शहरों में त्योहारों पर प्रशासन की ओर से छूट दी जाती है और यहां प्रशासन की ओर से त्योहारों के सीजन में खौफ पैदा किया जाता है।

सरकार डेंगू को लेकर सीरियस नही: चित्रा

चित्रा ने कहा कि डेंगू के मामले छावनी में बढ़ते ही जा रहे है। रोजाना किसी न किसी की मृत्यु की खबर डेंगू से आ रही है। कैंट के सभी 32 वार्ड में 32 मशीनों द्वारा फॉगिंग व दवाइयों का छिड़काव जरूरी है, लेकिन सरकार डेंगू को लेकर सीरियस ही नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *